प्याज ने बिगाड़ा आम आदमी की थाली का जायका, जानें दाम बढ़ने के वजह

सिवान | पेट्रोल एवं डीजल की दर में हो रही लगातार बढ़ोत्तरी के बाद अब प्याज दर में वृद्धि ने आम लोगों का जायका बिगाड़ कर रख दिया है। आलम यह हो गया है कि आम लोगों की थाली से प्याज दूर होता जा रहा है। ग्राहकों का कहना है कि राज्य सरकार की ओर से प्याज का कोई निर्धारित दाम नहीं तय किया गया है। सरकार की तरफ से निर्धारित दाम न होने के कारण प्याज व्यापारी एवं दुकानदार इसका भरपूर लाभ उठा रहे हैं और मनमाने ढंग से बढ़ी दर में प्याज बेच रहे हैं। राजधानी भुवनेश्वर में 50 से 60 रुपये प्रति किलो के हिसाब से प्याज बिक रहा है। लोगों ने राज्य प्रशासन से इसे नियंत्रित करने का अनुरोध किया है।

कौन है जिम्मेदार

वहीं राज्य के खाद्य, आपूर्ति व उपभोक्ता कल्याण मंत्री रणेन्द्र प्रताप स्वाई ने सोमवार को कहा कि लगता नहीं है कि दीपावली तक प्याज का दाम कम होने वाला है। यह इसी तरह रहेगा। इसके लिए मंत्री ने प्याज उत्पादन में आई कमी को ही जिम्मेदार ठहराया है। मंत्री के अनुसार जहां प्याज का उत्पादन होता है वहां इस साल भारी बारिश हुई है। इसी वजह से पैदावार कम हो गयी है। मंत्री ने चेतावनी दी है कि स्थिति का फायदा उठाकर यदि कोई प्याज की कालाबाजारी की तो उसकी खैर नहीं। विभाग की ओर से उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

प्याज के दाम

सोमवार को कटक की सबसे बड़ी सब्जी मंडी छत्राबाजार में प्याज का दाम प्रति किलो 55 रुपये था। यह दर और अधिक बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। व्यापारियों का कहना है कि प्याज का दाम इस साल भी वर्ष 2015 की तरह 80 रुपये किलो तक जा सकता है। माल कम है। इससे ग्राहक चिंता में हैं। पिछले सप्ताह प्याज का दाम जहां 30 रुपये किलो था अब कहीं कहीं पर यह 55 रुपये से ऊपर चला गया है। प्याज की बढ़ती दर ने आम लोगों के खाने का जायका बदलकर रख दिया है। हालांकि प्रशासन की ओर से बाजार पर नजर रखी जा रही है।

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: