मुंबई में कोरोना के 683 मामले मिले, करीब तीन माह में सबसे ज्यादा केस का रिकॉर्ड

महाराष्ट्र में 24 घंटे में कुल 1410 नए मामले सामने आए हैं. 12 मरीजों की मौत हुई है. वहीं ओमिक्रॉन के 20 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद राज्य में कुल ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या 108 पहुंच गई है.

मुंबई में आज शुक्रवार को कोरोना वायरस के 683 नए मामले सामने आए हैं, 6 अक्टूबर के बाद सबसे अधिक हैं. स्वास्थ्य अधिकारियों ने जानकारी देते हुए बताया कि वृद्धि उस दिन हुई जब महाराष्ट्र सरकार ने कोरोना के बढ़ते मामलों के मद्देनजर भीड़ से बचने के लिए राज्य में नए प्रतिबंध लगाने का फैसला किया. दरअसल, मुख्यमंत्री कार्यालय ने गुरुवार देर रात एक बयान में कहा कि शुक्रवार को दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे.

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने राज्य COVID-19 टास्क फोर्स के सदस्यों के साथ बातचीत की. इसमें कहा गया है कि उन्होंने क्रिसमस और नए साल के जश्न, शादियों और होटलों और रेस्तरां में पार्टियों के दौरान भीड़ से बचने के तरीकों पर चर्चा की. बयान में कहा गया है कि बैठक में अन्य राज्यों में लगाए गए प्रतिबंधों और संयुक्त राज्य अमेरिका और यूरोप में कोरोना में स्पाइक पर भी चर्चा हुई.

महाराष्ट्र की बात करें तो 24 घंटों में कुल 1410 नए मामले सामने आए हैं, ये 27 अक्टूबर के बाद सबसे अधिक हैं. 27 अक्टूबर को 1485 मामले दर्ज किए गए थे. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक 24 घंटे में 12 मरीजों की मौत हुई है. वहीं ओमिक्रॉन के 20 नए मामले सामने आए हैं, जिसके बाद राज्य में कुल ओमिक्रॉन मरीजों की संख्या 108 पहुंच गई है. इनमें से 54 मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं.

बीते 24 घंटों में दिल्‍ली में कोरोना के 180 केस सामने आए हैं जबकि पॉजिटिविटी रेट बढ़कर 0.29 फीसदी हो गया है. दिल्ली में 16 जून के बाद से सबसे ज्यादा कोरोना केस और 15 जून के बाद से सबसे ज्यादा पॉजिटिविटी रेट है. दिल्‍ली में इस समय कोरोना के एक्टिव केसों की संख्‍या 782 है जो बीते साढ़े पांच माह में सबसे ज्‍यादा है.