siwansamachar

Samachar Tej Raftar Se

Exit poll SCAM I BJP Govt & Nifty
News

Exit poll SCAM BJP Govt & Nifty – Banknifty Prediction For 7th June

शेयर बाजार की हलचल: Election की उठापटक और निवेश की रणनीतियाँ नई दिल्ली – इस हफ्ते शेयर बाजार में काफी उठापटक देखी गई है। बाजार की मौजूदा स्थिति और आगामी election परिणामों के कारण निवेशक असमंजस में हैं कि अगला कदम क्या होना चाहिए। इस रिपोर्ट में हम उन महत्वपूर्ण बिंदुओं पर चर्चा करेंगे जो आपके निवेश निर्णयों को प्रभावित कर सकते हैं।

सरकार गठन की प्रक्रिया और बाजार पर असर


Election परिणाम आने के बाद, सरकार गठन की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इसके बाद शपथ ग्रहण और फ्लोर टेस्ट होंगे, जहां सरकार अपने नंबर दिखाएगी। यह एक महत्वपूर्ण इवेंट है और अगले कुछ दिनों में बाजार में अस्थिरता बनी रह सकती है।

संभावित प्रभाव:

  • Portfolio Allocation: विभिन्न मंत्रालयों के अलोकेशन पर काफी नेगोशिएशन होंगे।
  • Power Dynamics: भाजपा के पास 240 सदस्य हैं और पावर के लिए खींचतान होना तय है।
  • प्रमुख मंत्रालय: डिफेंस, फाइनेंस और होम मंत्रालय भाजपा के पास रहेंगे।

Portfolio Allocation और राजनीतिक नाटक

सरकार गठन के दौरान विभिन्न मंत्रालयों के अलोकेशन पर काफी नेगोशिएशन होंगे। भाजपा के पास 240 सदस्य हैं और पावर के लिए खींचतान होना तय है। प्रमुख मंत्रालय जैसे डिफेंस, फाइनेंस और होम ज्यादातर भाजपा के पास रहेंगे, जबकि शिक्षा और कृषि जैसे विभाग एलायंस पार्टनर्स को मिल सकते हैं।

संभावित जोखिम:


1. नेगोशिएशन का प्रभाव: विभिन्न पार्टियों के बीच खींचतान बाजार में अस्थिरता बढ़ा सकती है।
2. Coordination Issues: कई पार्टियों के पोर्टफोलियो होने से सेंट्रल अथॉरिटी की कमी हो सकती है।

आईटी सेक्टर का संभावित लाभ


आईटी सेक्टर पर नजर रखना महत्वपूर्ण है। यदि चंद्रबाबू नायडू को आईटी मंत्रालय मिलता है, तो आईटी स्टॉक्स में पॉजिटिव रुझान देखा जा सकता है। हैदराबाद में आईटी इंडस्ट्री की मजबूत उपस्थिति के कारण, इस क्षेत्र में संभावित वृद्धि हो सकती है।

कारण:


आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर: हैदराबाद में आईटी इंफ्रास्ट्रक्चर का मजबूत होना।

लीडरशिप: चंद्रबाबू नायडू की आईटी सेक्टर में अनुभव और योगदान।

बाजार के तकनीकी स्तर

मौजूदा बाजार स्थिति में, Sensex का समर्थन स्तर 22,400 है और रेजिस्टेंस 23,000 के आसपास है। अगर बाजार इस समर्थन स्तर को तोड़ता है, तो हम एक और गिरावट देख सकते हैं। इसी तरह, Bank Nifty का समर्थन स्तर 48,300 है और रेजिस्टेंस 49,600 है।

महत्वपूर्ण स्तर:


Support Level: 22,400 (Sensex), 48,300 (Bank Nifty)

Resistance Level: 23,000 (Sensex), 49,600 (Bank Nifty)

विदेशी निवेशकों की भूमिका

FII (Foreign Institutional Investors) पिछले तीन दिनों से लगातार बेच रहे हैं। यह बाजार के लिए एक नकारात्मक संकेत हो सकता है। पिछले तीन दिनों में, FII ने लगभग 23,000 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं, जो बाजार में एक बड़ी बिकवाली का संकेत देता है।

बिक्री के कारण:


Profit Booking: उच्च वैल्यूएशन पर प्रॉफिट बुकिंग।

राजनीतिक अस्थिरता: Election परिणामों के बाद राजनीतिक अस्थिरता की आशंका।

वैल्यूएशन और खरीदारी के अवसर

मिड कैप और स्मॉल कैप स्टॉक्स में अधिक वैल्यूएशन है, और इसमें सुधार की संभावना है। निवेशकों को बाजार की मौजूदा स्थिति को देखते हुए सस्ते में खरीदने के अवसर तलाशने चाहिए। सस्ते में खरीदने से लंबे समय में बेहतर रिटर्न मिल सकता है।

निवेश के टिप्स:


विविधता: अपने पोर्टफोलियो को विविधता दें।

सस्ते में खरीदें: बाजार में गिरावट के समय अच्छे स्टॉक्स को खरीदें।

Conclusion


बाजार में मौजूदा स्थिति को देखते हुए, निवेशकों को सतर्क रहना चाहिए और किसी भी बड़े निर्णय से पहले गहन विश्लेषण करना चाहिए। सरकार गठन की प्रक्रिया और राजनीतिक नाटक से बाजार में अस्थिरता बनी रह सकती है। निवेशकों को अपने पोर्टफोलियो को संतुलित रखना चाहिए और सुरक्षित निवेश विकल्पों पर विचार करना चाहिए।

यदि आपको इस तरह की सामग्री पढ़ने में रुचि है तो आप इस वेबसाइट लिंक पर भी इसी तरह की सामग्री पढ़ सकते हैं – Tubegalore